Sign In Join US Advertise with us Add your business info Contact Digital Newspaper Dealer Enquiry Video
Search Directory

VIP Pages

 

News

जीरा का भविष्य उज्ज्वल, कालीमिर्च में तेजी, शक्कर स्थिर

स्थानीय सियागंज किराना मंडी में ग्राहकी' समान्य' है। अधिकांश किराना घटकों पर महंगाई ही रही है। जीरा, खेपरागोल और बुरा पर भाव की भारी ऊंचाई रही और तेज हुए। निर्यातकों की अधिक दिलचस्पी और बड़े स्टाकिस्टो की कमजोर बिकवाली की मनोवृत्ति स्थिति में जीरा नवंबर - दिसंबर वायदा तेजी में रहा बताया गया । हालांकि इस वर्ष देश में जीरे का उत्पादन गत् वर्ष के उत्पादन से अच्छा रहा है मगर सट्टे में जीरा में आगे तेजी की ही धारणा बताई जा रही है। जीरे को भविष्य मजबूत ही बताया जा रहा है। जीरा राजस्थान तरफ का 181-185 रु. और ऊंझा मध्यम का भाव 200 से 205 रु. तक का बताया गया है। व्यापारिक क्षैत्रो से मिली खबर के अनुसार कालीमिर्च में बाजार हलचल मची रहती है। कभी निम्न किस्म के आयात में तो कभी कमजोर उत्पादन में इससे हाजिर व्यापार भारी ऊंचे भाव पर होता रहा है। गत् वर्ष से विश्वभर में भारी उत्पादनों के बावजूद कालीमिर्च अपने मूल भाव 140-160 रु. किलो तक नहीं गिरी है। यह आज भी खेरची में 450-500 रु. किलो पर है। हालांकि गत् हप्ते थोक में कालीमिर्च में मामूली मंदी बताई गई है जो कि ऊंट के मूह में जीरे के बराबर की मंदी है। हाजिर थोक मे भीऔसत भाव में यह मजबूत बताई जा रही थी। ऊंचे भाव पर मांग कमजोर रहने से इंदौर में हाजिर कालीमिर्च का भाव गारवल' 30 से 335 रु. तथा मटरदाना का भाव 370 से 380 रु. का रहा । काली मिर्च मे बडे स्टाकिस्ट विएतनाम, ब्राजील तथा इंडोनेशिया की स्थिति पर नजरें रखे बताये गये है। उधर में भारी उत्पादन और आयात के रास्ते सस्ता माल आने की बढ़त होने पर कालीमिर्च में भारी गिरावट के संयोग बताऐ जा रहे है। जानकारों के अनुसार इस वर्ष कालीमिर्च में विश्व स्टॉक में कमी नही रहेगी। हल्दी वायदा व्यापार में पिछले दो माह से 5500 रु. के आसपास लगातार चलती रही है मगर भारी उत्पादन और स्टॉक के बावजूद हाजिर व्यापार में उपरी भाव पर इसे ऊंचे व्यापारियों ने थाम रखा बताया जा रहा है। उत्पादक प्रदेशों में वहां बोआई पर संशय बताया जा रहा होने से आगे मजबूत और भविष्य अच्छा बताया जा रहा है । छाटे व्यापारियो के अनुसार सट्टे में उपर के भाव पर गई हल्दी को कुछ बड़े स्टाकिस्टो ने जमा कर रखी है सो वे हल्दी को नीचे नही आने देना चाह रहे बताए जा रहे है। हालांकि हल्दी में' आगे निर्यात मांग लगातार कमजोर बनी रहने की दशा में तेजी तेजी की संभावना व्यक्त नहीं की जा रही है । गत् हप्ते' मांग अधिक नही निकलने से हल्दी कांडी और पावडर दोनो मे मजबूती रही। हल्दी निजामाबाद कांडी 9500-10500 रु. ओर लाल गाय 13300 रु. एवं पावडर 501 का भाव 1570 रु. तक बताया गया है । उत्पादक प्रदेशो में नारियल की इस वर्ष सामान्य से अधिक पैदावार रहने और वहां भाव घटने तथा स्थानीय में फिलहाल' मांग में कमी आने से भाव स्थिरता बताई गई है। 250 भरती चैन्नाई तरफ के माल का भाव 1500 रु. तक बताया गया। गत् हप्ते चने में तेजी का असर बेसन पर रहा और लगभग 30 रु. की तेजी प्रभावित हुई बताया गया। भाव 6300 से 7500 रु. तक क्वालिटी मुजब होना बताए गये है बेसन की खपत आगे बढ़ते रहने की संभावना के मद्देनजर ज्यादा लंबी मंदी की धारणा भी नहीं व्यक्त की गई है। व्यापारियों के अनुसार देश मे शक्कर का उत्पादन लगातार बढ़ता जा रहा है और इस वर्ष गन्ने की फसल भारी उत्पादन में है अत: शक्कर उत्पादन लगातार बढ़ते रहने की संभावनाओं के मद्देनजर शक्कर में अधिक तेजी की धारणा को बल नहीं मिल रहा है। हालांकि शक्कर भाव विगत् वर्ष की तुलना में 7 रु. किलो उपर है और इस भाव पर शक्कर उत्पादकों का कई गुना अधिक लाभ हुआ बताया जा रहा है। अत: यह अनुमान लगाया जा रहा है कि चीनी पर कृत्रिम तेजी चीनी मिल सिंडीकेट द्वारा बनाई जा सकती है।

Business Pages
VYAPAR TIMES India's No.1 Foods and Commodities Trade Directory             Food Grain, Indian Exporters and Importers, Rice Millers, Flour Mills, Dal Mills, Brokers, Traders and Service Providers             Vyapar Times Directory Our This Portal Contains The Full Description of all Traders like Leading Traders Brokers International Intermediator Leading Rice Millers Exporters Importers Roller Flour Mills Pulses Mills Cattle feeds, Oilseeds. We Have Updated the Name of Selected Parties of Different States with Whom you Can do Your Business with Confidence. In The End, I Personally wish To Pay My Gratitude to Our Valuable Advertisers.